ब्रिक्स क्या है? What Is BRICS | 15th BRICS Summit Current Affairs 2023 PDF Download GK in Hindi Free

15th BRICS Summit Current Affairs 2023 PDF Download  : क्या है BRICS? 15th brics summit theme कौन-कौन से देश हैं इसमें शामिल, क्या है इसका उद्देश्य GK

ब्रिटिश अर्थशास्त्री जिम ओनिल ने ‘BRICS’ शब्द की उत्पत्ति की थी, जोकि गोल्डमैन सैक्स में काम करते समय हुआ था। उन्होंने पहले इस शब्द को ‘BRIC’ रखा था, जिसमें देशों का नाम ब्राजील, रूस, भारत और चीन था। 2010 में, दक्षिण अफ्रीका को समूह में शामिल किया गया और इसने ‘BRIC’ में ‘S’ को जोड़ दिया, जिससे ‘BRICS’ बना। जिम की खोज के परिणामस्वरूप, 2001 में उन्होंने अपने शोधपत्र में ‘BRIC’ शब्द का पहला उपयोग किया।

BRICS सम्मेलनों के बारे में जानकारी देते हुए, पहली बैठक 2006 में हुई थी, जब चार देशों – ब्राजील, रूस, भारत, और चीन – ने मिलकर एक नया समूह बनाया था। उसके बाद, पहला शिखर सम्मेलन 2009 में रूस में हुआ था और दूसरा सम्मेलन 2010 में ब्राज़ील में आयोजित किया गया, जिसमें दक्षिण अफ्रीका को भी शामिल किया गया और समूह का नाम ‘BRICS’ हो गया।

ये भी पढ़ें :- 

BRICS का मुख्यालय चीन के संघाई में है और इसका सम्मेलन हर साल होता है, जिसमें विभिन्न देशों का संवाद और सहयोग होता है। इस समूह में शामिल देशों की ख़ासियत यह है कि वे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्थाओं वाले देश हैं और इनमें से प्रत्येक की विशेष अहमियत है।

इस समूह में नए सदस्यों की शामिली के बारे में, यह एक सहमति पर आधारित प्रक्रिया होती है जिसमें मौजूदा सदस्य देश नए सदस्य की शामिली के पक्ष में विचार करते हैं। कोविड-19 के परिणामस्वरूप, ब्रिक्स देशों के नेता अपने पहले भौतिक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए तैयार हैं, जो दक्षिण अफ्रीका में आयोजित होगा।

प्रधानमंत्री मोदी भी इस समूह के महत्वपूर्ण हिस्सेदार हैं और उन्हें ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने का अवसर मिलेगा। वे साउथ अफ्रीका की यात्रा के बाद ग्रीस जाएंगे, जिससे यह भारत के लिए महत्वपूर्ण और गर्व की बात होगी।

BRICS Summit Current Affairs

15th BRICS Summit Current Affairs 2023 जो Railway, Banking, CG VYAPAM, SSC, CGPSC, UPSC, आदि Exam मे BRICS Current Affairs के Question पुछे जाते है, अगर आपको सफल होना है तो आप BRICS Summit Current Affairs in Hindi  की सभी Current Affairs Question को अच्छे से याद करें।

ब्रिक्स क्या है? What Is BRICS

ब्रिक्स एक अंतरराष्ट्रीय समूह है जिसमें पांच मुख्य उभरती अर्थव्यवस्थाओं वाले देश शामिल हैं – ब्राज़िल, रूस, भारत, चीन, और दक्षिण अफ्रीका। यह समूह विभिन्न आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों पर सहयोग और सहमति को प्रमोट करता है ताकि इन देशों की आर्थिक विकास में मदद मिल सके।

ब्रिक्स की शुरुआत 2001 में ‘BRIC’ के रूप में हुई थी, जब गोल्डमैन सैक्स के अर्थशास्त्री जिम ओनिल ने इस समूह की अपने शोध में ब्राज़िल, रूस, भारत, और चीन के अर्थव्यवस्थाओं की महत्वपूर्णता को प्रमोट किया। बाद में, 2010 में दक्षिण अफ्रीका को शामिल किया गया और ‘BRIC’ से ‘BRICS’ बन गया।

यह समूह विभिन्न समूहों, सम्मलेनों और बैठकों के माध्यम से सहमति और सहयोग की दिशा में काम करता है, जो आर्थिक विकास, वित्तीय स्थिरता, वित्तीय सहयोग, व्यापार और व्यापारिक आर्थिक सहयोग, विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भी हो सकता है। यह समूह उन देशों की आवश्यकताओं और मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करता है जो विश्व अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

ब्रिक्स का उद्देश्य ब्रिक्स सदस्यों के बीच सहयोग और सहमति को बढ़ावा देना है ताकि वे अपने स्वतंत्र आर्थिक विकास के पथ पर आगे बढ़ सकें और ग्लोबल स्तर पर अपनी आवश्यकताओं को पूरा कर सकें।

ब्रिक्स फुल फॉर्म

(BRICS Summit Current Affairs )

ब्रिक्स की फुल फॉर्म होती है:

बी – ब्राज़िल (Brazil)

आर – रूस (Russia)

आई – भारत (India)

सी – चीन (China)

एस – दक्षिण अफ्रीका (South Africa)

इन पांच देशों के पहले अक्षरों का एक-साथ रखकर “BRICS” बनता है, जिसे यह समूह प्रतिनिधित्व करता है।

ब्रिक्स की स्थापना कब और कहां हुई

BRICS” या “ब्रिक्स” (Brazil, Russia, India, China, South Africa) एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय समूह है जिसकी स्थापना 2006 में हुई थी। यह समूह उन पांच विकासशील देशों का संघ है जिनमें ब्राज़िल, रूस, भारत, चीन, और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। इन देशों की एकीकृत प्रयासों के माध्यम से यह समूह आर्थिक और राजनीतिक मामलों में सहमति और सहयोग को बढ़ावा देता है।

ब्रिक्स की शुरुआत ‘BRIC’ के रूप में हुई थी, जब गोल्डमैन सैक्स के अर्थशास्त्री जिम ओनिल ने 2001 में एक शोध पेपर में इन पांच देशों के आर्थिक विकास की महत्वपूर्णता को प्रमोट किया। यह समूह दुनिया की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्थाओं वाले देशों को मिलकर सहयोग करने का लक्ष्य रखता है, जिससे वे अपने विकास में मदद कर सकें।

ब्रिक्स के सदस्यों का आपसी सहमति और सहयोग आर्थिक संबंधों, व्यापार, वित्तीय स्थिरता, वित्तीय सहायता, और विज्ञान और प्रौद्योगिकी में सहयोग के क्षेत्रों में होता है। इसके माध्यम से, यह समूह विश्व अर्थव्यवस्था में अपने मतभेदों और मुद्दों को साझा करके समाधान ढूंढने का प्रयास करता है।

ब्रिक्स के सदस्य देश अपनी आर्थिक सहायता और सहयोग में अधिक मजबूत होने के साथ-साथ विकासशील और उभरती अर्थव्यवस्थाओं के रूप में अपने प्रमाण को बढ़ाते जा रहे हैं। ब्रिक्स समूह का महत्वपूर्ण उद्देश्य विकास की सामाजिक और आर्थिक परिस्थितियों में सुधार करने और सामंजस्यपूर्ण समाधान प्रस्तुत करने का है।

संक्षेप में कहें तो, ब्रिक्स एक महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय समूह है जिसमें पांच विकासशील देशों का संघ है, जिनका उद्देश्य आर्थिक और राजनीतिक मामलों में सहयोग और सहमति को प्रमोट करना है।

ब्रिक्स (BRICS) का मुख्य उद्देश्य क्या है?

ब्रिक्स का मुख्य उद्देश्य विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग और सहमति के माध्यम से सदस्य देशों के विकास और सामृद्धि को प्रोत्साहित करना है। यह समूह ब्रिक्स सदस्य देशों के बीच साथिकता, आर्थिक सहयोग, विकासी योजनाएं और बदलाव की प्रमोट करके उनके आर्थिक और सामाजिक परिस्थितियों में सुधार करने का प्रयास करता है।

ब्रिक्स के मुख्य उद्देश्यों में निम्नलिखित शामिल हैं:

  1. आर्थिक सहयोग: ब्रिक्स सदस्य देश आर्थिक सहयोग में एक-दूसरे की मदद करते हैं, जैसे कि वित्तीय सहायता, निवेश, वित्तीय स्थिरता और वित्तीय बाजारों में सहयोग।
  2. व्यापार और व्यापारिक सहयोग: ब्रिक्स सदस्य देश अपने बीच व्यापार और व्यापारिक सहयोग को बढ़ावा देने का प्रयास करते हैं, जो उनके आर्थिक विकास को बढ़ावा देता है।
  3. विकास के क्षेत्रों में सहयोग: ब्रिक्स सदस्य देश विकास के विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग करते हैं, जैसे कि अंतरिक्ष, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, शिक्षा, आर्थिक संवाद, और क्षेत्रीय सहयोग।
  4. आर्थिक स्थिरता: ब्रिक्स सदस्य देश आर्थिक स्थिरता को सुनिश्चित करने के लिए सहयोग करते हैं, जिससे वे आर्थिक संकटों से बेहतर तरीके से निपट सकें।
  5. ग्लोबल मुद्दों पर मिलकर काम करना: ब्रिक्स सदस्य देश विश्व मुद्दों जैसे कि क्लाइमेट चेंज, साइबर सुरक्षा, आतंकवाद आदि के समाधान के लिए मिलकर काम करते हैं।

ब्रिक्स (BRICS) का मुख्यालय कहां है

ब्रिक्स का मुख्यालय चीन के शंघाई शहर में स्थित है। शंघाई चीन का एक प्रमुख नगर है और ब्रिक्स के सदस्य देशों के बीच विभिन्न मामलों के समाधान के लिए महत्वपूर्ण बैठकों और सम्मलेनों को आयोजित करने का केंद्र है। यहाँ पर विभिन्न आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की जाती है और सदस्य देश अपने मतभेदों को हल करने के तरीकों का परिष्करण करते हैं।

ब्रिक्स में कितने देश शामिल है

ब्रिक्स समूह में पांच देश शामिल हैं:

B = ब्राज़िल,

R = रूस,

I = भारत,

C =  चीन,

S = दक्षिण अफ्रीका

ये पांच देश सामूह के सदस्य देश होते हैं और इस समूह के तहत सहमति और सहयोग के क्षेत्रों में सहयोग करते हैं।

ब्रिक्स (BRICS) के वर्तमान अध्यक्ष 2023

2023 में ब्रिक्स के वर्तमान अध्यक्ष दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा हैं। उन्होंने ब्रिक्स के 15वें शिखर सम्मेलन की मेजबानी की है जो 22 से 24 अगस्त 2023 तक जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ्रीका में आयोजित हो रहा है।

ब्रिक्स शिखर (BRICS SUMMIT)सम्मेलन सूची

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन एक वार्षिक आयोजन होता है जिसमें ब्रिक्स सदस्य देशों के नेता मिलकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करते हैं और सहयोग की योजनाएं बनाते हैं। निम्नलिखित हैं ब्रिक्स शिखर सम्मेलनों की एक सामान्य सूची:

  • 2009: येकाटेरिंगबर्ग, रूस
  • 2010: ब्रासिलिया, ब्राज़िल
  • 2011: सांड्टन्स, चीन
  • 2012: न्यू दिल्ली, भारत
  • 2013: एकातरिनबर्ग, दक्षिण अफ्रीका
  • 2014: फोटलोअल्टो, ब्राज़िल
  • 2015: उफा, रूस
  • 2016: गोआ, भारत
  • 2017: शंघाई, चीन
  • 2018: न्यू दिल्ली, भारत
  • 2019: ब्रासिलिया, ब्राज़िल
  • 2020: अंध्रा प्रदेश, भारत (वर्चुअल शिखर सम्मेलन)
  • 2021: नियूर, दक्षिण अफ्रीका (वर्चुअल शिखर सम्मेलन)
  • 2022: नोवोसिबिर्स्क, रूस (वर्चुअल शिखर सम्मेलन)
  • 2023: जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ्रीका (आगामी)

यह शिखर सम्मेलन सामूह के सदस्य देशों के नेतृत्व में आयोजित होता है और यहाँ पर विभिन्न आर्थिक, सामाजिक, और राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा होती है जो सदस्य देशों के आर्थिक विकास और सहयोग को प्रोत्साहित करते हैं।

List of BRICS summit attendees

Here is a list of attendees from each of the BRICS summit meetings:

  1. 1st BRIC Summit (2009 – Yekaterinburg, Russia):
    • Brazil: Luiz Inácio Lula da Silva
    • Russia: Dmitry Medvedev
    • India: Manmohan Singh
    • China: Hu Jintao
  2. 2nd BRIC Summit (2010 – Brasília, Brazil):
    • Brazil: Luiz Inácio Lula da Silva
    • Russia: Dmitry Medvedev
    • India: Manmohan Singh
    • China: Hu Jintao
  3. 3rd BRICS Summit (2011 – Sanya, China):
    • Brazil: Dilma Rousseff
    • Russia: Dmitry Medvedev
    • India: Manmohan Singh
    • China: Hu Jintao
    • South Africa: Jacob Zuma
  4. 4th BRICS Summit (2012 – New Delhi, India):
    • Brazil: Dilma Rousseff
    • Russia: Dmitry Medvedev
    • India: Manmohan Singh
    • China: Hu Jintao
    • South Africa: Jacob Zuma
  5. 5th BRICS Summit (2013 – Durban, South Africa):
    • Brazil: Dilma Rousseff
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Manmohan Singh
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Jacob Zuma
  6. 6th BRICS Summit (2014 – Fortaleza, Brazil):
    • Brazil: Dilma Rousseff
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Narendra Modi
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Jacob Zuma
  7. 7th BRICS Summit (2015 – Ufa, Russia):
    • Brazil: Dilma Rousseff
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Narendra Modi
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Jacob Zuma
  8. 8th BRICS Summit (2016 – Goa, India):
    • Brazil: Michel Temer
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Narendra Modi
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Jacob Zuma
  9. 9th BRICS Summit (2017 – Xiamen, China):
    • Brazil: Michel Temer
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Narendra Modi
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Jacob Zuma
  10. 10th BRICS Summit (2018 – Johannesburg, South Africa):
    • Brazil: Michel Temer
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Narendra Modi
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Cyril Ramaphosa
  11. 11th BRICS Summit (2019 – Brasília, Brazil):
    • Brazil: Jair Bolsonaro
    • Russia: Vladimir Putin
    • India: Narendra Modi
    • China: Xi Jinping
    • South Africa: Cyril Ramaphosa
  12. 12th BRICS Summit (2020 – Virtual Summit):
    • All leaders attended virtually due to the COVID-19 pandemic.
  13. 13th BRICS Summit (2021 – Virtual Summit):
    • All leaders attended virtually due to the ongoing pandemic.
  14. 14th BRICS Summit (2022 – Virtual Summit):
    • All leaders attended virtually.

Please note that the attendees may vary slightly based on the specific summit and any changes in leadership.

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2023 की मेजबानी किस देश ने की?

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन 2023 की मेजबानी दक्षिण अफ्रीका ने की है।

BRICS Summit 2023 theme

दक्षिण अफ्रीका द्वारा आयोजित ब्रिक्स सम्मेलन 2023 का थीम “ब्रिक्स@15: सततता, समृद्धि और सहमति के लिए इंट्रा-ब्रिक्स सहयोग” है। यह थीम ब्रिक्स सदस्य देशों के बीच सहयोग को मजबूती देने, सामूहिक विकास, एकता और सहमति की दिशा में महत्वपूर्ण बदलाव को दर्शाती है, जैसा कि समूह अपनी 15वीं वर्षगांठ मना रहा है।

Exam मे ब्रिक्स से संबन्धित सबसे ज्यादा पुछे जाने वाले प्रश्न

आपकी परीक्षा  (BRICS Summit Current Affairs ) में ब्रिक्स से संबंधित सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले प्रश्न कुछ निम्नलिखित हो सकते हैं:

  • ब्रिक्स समूह क्या है और इसका उद्देश्य क्या है?
  • ब्रिक्स के कौन-कौन सदस्य देश हैं और कब यह समूह स्थापित किया गया था?
  • ब्रिक्स समूह के सदस्य देश के बीच सहयोग के क्या-क्या माध्यम होते हैं?
  • ब्रिक्स शिखर सम्मेलन क्या होता है और यह कब-कब आयोजित होता है?
  • ब्रिक्स समूह के सदस्य देश कौन-कौन सी आर्थिक योजनाएं और पहलुओं पर काम कर रहे हैं?
  • ब्रिक्स समूह के मुख्यालय कहां स्थित है और उसका महत्व क्या है?
  • ब्रिक्स समूह के विभिन्न सदस्य देशों के बीच व्यापार और विकास सहयोग कैसे काम करता है?
  • ब्रिक्स के सदस्य देशों के बीच किस क्षेत्र में सबसे ज्यादा सहयोग होता है और उसका महत्व क्या है?
  • ब्रिक्स समूह के सदस्य देश किस प्रकार से विश्व मुद्दों पर मिलकर काम करते हैं?
  • ब्रिक्स समूह के सदस्य देश के बीच संबंध किस प्रकार से सुदृढ़ हो रहे हैं और भविष्य में कैसे विकसित हो सकते हैं?

यहाँ दिए गए प्रश्न आपकी परीक्षा के लिए उपयोगी साबित हो सकते हैं, लेकिन आपके पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न के आधार पर सबसे महत्वपूर्ण प्रश्नों का अनुसरण करना भी महत्वपूर्ण होता है।

15th BRICS Summit Current Affairs in Hindi का पोस्ट आपको कैसे लगा कमेंट कर जरूर बताये इस तरह की daily current affairs पढ़ने के लिए हमारी site www.cgepaper.com में जरूर विजिट (Visit) करें।

Leave a Comment

error: Content is protected !!